दिन 2: यीशु के द्वारा मंदिर का बन्द किया जाना… घातक प्रदर्शन की ओर ले चलता है

यीशु ने यरूशलेम में एक तरह से राजा के रूप में दावा करते हुए और सभी देशों के लिए एक ज्योति के रूप में प्रवेश

Read More

दिन 1: यीशु – जातियों की ज्योति

शब्द ‘लिंग’ संस्कृत के शब्द‘चिह्न’  या, ‘प्रतीक’  के अर्थ से निकल कर आता है, और लिंग शिव का सबसे अधिक मान्यता प्राप्त प्रतीक है। शिव

Read More

जीवन-मुक्ता, यीशु, मृतकों के पवित्र शहर की यात्रा करते हैं

बनारस सात पवित्र शहरों (सप्त पुरी) में सबसे पवित्र शहर है। यहाँ पर तीर्थ-यात्रा के लिए प्रतिवर्ष दस लाख से अधिक तीर्थयात्री आते हैं, इसका

Read More

‘सात’ के चक्र में ∶ मसीह का आना

पवित्र शब्द सात सात एक मंगलकारी सँख्या है, जो नियमित रूप से पवित्र के साथ जुड़ी हुई है। ध्यान दीजिए कि गोदावरी, यमुना, सिन्धु, सरस्वती,

Read More

यीशु कार सेवक के रूप में कार्य करता है – अयोध्या की तुलना में अधिक समय

अयोध्या में लम्बे समय तक चलने वाला और कड़वा झगड़ा एक नए मील के पत्थर तक पहुँच गया है, जब इसने न्यूयॉर्क शहर में दूर

Read More

जीवित जल : गंगा में तीर्थ की दृष्टि से देखना

यदि एक व्यक्ति परमेश्वर से मुठभेड़ की आशा करता है तो एक प्रभावी तीर्थ किए जाना आवश्यक है। तीर्थ (संस्कृत तीर्थ) का अर्थ “स्थान को

Read More

परमेश्वर का राज्य? गुण कमल, शंख एवं मछली की जोड़ी में चित्रित

पुष्प कमल दक्षिण एशिया का प्रतिष्ठित फूल है। कमल का फूल प्राचीन इतिहास में एक प्रमुख प्रतीक था, यह आज भी बना हुआ है। कमल

Read More

यीशु शिक्षा देते हैं कि प्राण हमें द्विज के पास लाता है

यीशु शिक्षा देते हैं कि प्राण हमें द्विज के पास लाता है द्विज (जायते) का अर्थ ‘दो बार जन्म’ या ‘फिर से जन्म’ लेना होता

Read More